Himachal Tonite

Go Beyond News

टिक्कर में फायर स्टेशन स्थापित करने की मांग

शिमला, 10 दिसम्बर – शहरी विकास, नगर नियोजन, आवास, संसदीय कार्य, विधि एवं सहकारिता मंत्री सुरेश भारद्वाज ने आज रोहडू उपमंडल के तहत टिक्कर पंचायत के जुगांदली गांव में लगी भीषण आग से क्षतिग्रस्त हुए मकान का दौरा किया। उन्होंने प्रभावित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की। उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर आग लगने का मुख्य कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है, जिससे 10 परिवार प्रभावित हुए हैं।

उन्होंने बताया कि फायर स्टेशन दूर होने की वजह से इस क्षेत्र में आग लगने की स्थिति में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। स्थानीय जनता की टिक्कर में फायर स्टेशन स्थापित करने की मांग काफी समय से चली आ रही है। उन्होंने बताया कि टिक्कर में फायर स्टेशन स्थापित करने से टिक्कर से पुजारली, टिक्कर से बाघी तथा टिक्कर से खड़ा पत्थर तक के क्षेत्र को लाभ पहुंचेगा।

उन्होंने बताया कि क्षेत्र की जनता द्वारा इस मांग को पूरा करने का पूर्ण प्रयास किया जाएगा ताकि नजदीक फायर स्टेशन से क्षेत्र में आग की स्थिति से निपटा जा सके।
उन्होंने बताया कि उपमंडलाधिकारी रोहडू द्वारा प्रभावित परिवारों को 10 लाख रुपये की फौरी राहत राशि वितरित की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त रजाई, बाल्टी, खाली गिलास, चावल इत्यादि राहत सामग्री भी प्रदान की जा चुकी है। इसके साथ-साथ प्रभावित परिवारों की छोटी-छोटी मांगों को भी पूर्ण करने का प्रयास किया जाएगा, जिसमें रास्ते इत्यादि शामिल है।

उन्होंने बताया कि प्रभावित परिवारों को मैनुअल के मुताबिक कंसेशन प्रदान किया जाएगा, जिसका केस उपमंडल अधिकारी रोहडू द्वारा तैयार किया जा चुका है, जिसे शीघ्र ही प्रभावित परिवारों को प्रदान किया जाएगा। इसके अतिरिक्त टीडी व गैस सिलेंडर इत्यादि की व्यवस्था प्रदान करने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि प्रभावित परिवारों को नए मकान बनाने के उद्देश्य से सामान को पहुंचाने के लिए रास्ते का निर्माण भी किया जाएगा।  इसके अतिरिक्त जिला प्रशासन व प्रदेश सरकार से प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।
इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने प्रभावित परिवारों को रेड क्रॉस की तरफ से दो-दो कंबल वितरित किए।

Keekli presents Fiction Treasure Trove 2022

Leave a Reply

Your email address will not be published.