Himachal Tonite

Go Beyond News

Jaypee University of Information Technology

हिमाचल की अगली पीढ़ी को निखारने के लिए अनुराग का सेंटर ऑफ एक्सीलेंस

शिमला, दिसम्बर 14 – रोज़गार और आगे बढ़ने के अवसर आज के युवाओं की पहली ज़रूरत है। शिक्षित युवा सभ्य समाज निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।मगर बदलते समय के साथ सिर्फ़ शिक्षा ही नहीं किसी क्षेत्र में प्रशिक्षण का महत्व भी बढ़ चुका है।आज एजुकेशन के साथ स्किल की माँग भी ज़ोरों पर है।इसी को ध्यान में रखते हुए हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद व केंद्रीय वित्त और कॉरपोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने हाल ही में जिला ऊना के अपने आदर्श ग्राम लोअर देहला में कौशल और खेल के लिए उत्कृष्टता केंद्र (सेंटर ऑप एक्सीलेंस) का शिलान्यास किया।

आवश्यकताओं और आकांक्षाओं के बीच की खाई को पाटने के इरादे से उम्मीदवारों और उद्योग के बीच एक सीधा इंटरफेस प्रदान करने के लिए इस सेंटर ऑप एक्सीलेंस के निर्माण पर लगभग 5 करोड़ रुपए का खर्च आएगा जोकि इंडस्ट्री को उसकी ज़रूरत के मुताबिक़ प्रशिक्षित युवाओं की माँग को पूरा करने का काम करेगा।जम्मू कश्मीर डीडीसी चुनावों के प्रभारी के रूप में घाटी में चुनावी कार्यक्रमों में व्यस्त अनुराग ठाकुर ने एक वीडियो संदेश के माध्यम से इस सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के शिलान्यास कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई व इसकी उपयोगिता व आवश्यकता पर प्रकाश डाला। देहलां में ग्राम प्रधान देविंदर कौशल की उपस्थिति में छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने अनुराग ठाकुर की ओर से शिलान्यास पट्टिका का अनावरण किया।

जम्मू कश्मीर से इस वर्चुअल कार्यक्रम में जुड़े अनुराग ठाकुर ने केंद्र के शिलान्यास की बधाई देते हुए कहा कि सेंटर ऑफ एक्सीलेंस युवाओं का हुनर निखारने में अहम भूमिका निभाएगा।

सेंटर ऑफ एक्सीलेंस समय की माँग है क्योंकि यह युवाओं के लिए कौशल विकास के साथ-साथ खेलों में भी बढ़ाने के लिए कई अवसर उपलब्ध करवाता है। यहाँ उद्योगों की आवश्यकता के अनुसार युवाओं को प्रशिक्षित किया जाता है साथ ही रोज़गार स्वरोज़गार क्षेत्र में उपजी संभावनाओं की पूर्ति के लिय युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाता है।यह हिमाचल की नई पीढ़ी के स्किलिंग डेवलपमेंट ,खेलों में आगे बढ़ाने व राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में पदक जीतने व भविष्य का नेतृत्व तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। हाल ही में,देहला से निकल कर चार कबड्डी खिलाड़ियों ने प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) जैसी प्रतितोगिता में भाग लेकर हिमाचल की प्रतिभा का लोहा मनवाया

यह सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर स्किल्स एंड स्पोर्ट्स निश्चित रूप से युवाओं के कौशल सेट को बढ़ाने की दिशा में काम करेगा।अनुराग ठाकुर ने पहले खेल महाकुंभ व भारत दर्शन जैसे कार्यक्रमों के ज़रिए युवाओं के बीच अच्छा काम किया है और हिमचाली युवाओं को सही सीखने व प्लेटफ़ॉर्म उपलब्ध कराने के लिए पहाड़ी राज्य का पहला सेंटर ऑफ एक्सीलेंस इस दिशा में एक और कदम प्रतीत हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *