Himachal Tonite

Go Beyond News

Jaypee University of Information Technology

मुख्यमंत्री सुकखु के नेतृत्व में चल रही फ्लॉप सरकार : रणधीर शर्मा

शिमला : हिमाचल प्रदेश में अनुभवहीन नेता सरकार चला रहे और इस सरकार को भविष्य में भी फ्लॉप सरकार के रूप में जानी जाएगी। मीडिया विभाग प्रभारी व विधायक रणधीर शर्मा ने शिमला में प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार के 15 महीने के कार्यकाल को फ्लॉप सरकार की संज्ञा दी जाए तो कोई गलत नहीं होगा। यह सरकार हर क्षेत्र में फेल हुई हैं, इनके कार्यकाल में कोई जनहित की योजना नहीं बनी,कोई चुनावी वायदा पूरा नहीं किया,कोई जन चुनावी गारंटी पूरी तरह से लागू नहीं की गई । उल्टा अनेक जन विरोधी निर्णय लेकर प्रदेश की जनता को प्रताड़ित किया।

प्रभारी रणधीर शर्मा ने कहा सरकार के कार्यकाल में प्रदेश की कानून व्यवस्था बुरी तरह से विफल हुई हैं। हर रोज़ कोई ना कोई बड़ा मुद्दा कानून व्यवस्था से सम्बंधित खड़ा होता है।उन्होंने कहा अभी पालमपुर की घटना को लोग भूले नहीं थे कि पिछले कल शिमला में एक 4 साल की बच्ची के साथ रेप की घटना सामने आ गई । इस सरकार के समय अपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी कांग्रेस सरकार में हुई है। उन्होंने आंकड़े प्रस्तुत करते हुए कहा कि सरकार के 16 महीने के कार्यकाल में 42 घटनाएं हत्या की हुई है, 34 अटेम्प्ट टू मर्डर के केस दर्ज हुए, 86 बलात्कार,321 चोरी की वारदातें, ड्रग्स से सम्बंधित मामले है 6000 से ऊपर हैं जो कि पुलिस विभाग में दर्ज हैं। यह सरकार की विफलता हैं क्योंकि इस सरकार के कार्यकाल में असामाजिक तत्वों का गुंडा तत्वों का हौसला बढ़ा हैं।और इस सब के लिए प्रदेश के मुख्य्मंत्री जिम्मेवार हैं। ज़ब प्रदेश का मुख्यमंत्री खुलेआम शराब पिने वालों को ढील कि बात करे अपनी चुनावी रैली में भूटो को कुट्टो जैसे नारे दे कर अपराधियों के हौसलें बुलंद करते हो तो प्रदेश की क़ानून व्यवस्था किस तरफ जाएगी उस निश्चित ही हैं। प्रदेश की कानून व्यवस्था बिगड़ी है उसमें इस सरकार का ढिलमुल रवैया, इस सरकार की प्रशासन पर कोई पकड़ ना होना और मुख्यमंत्री द्वारा इस तरह की गैर जिम्मेदाराना बयानबाजी करना दोषी है, जिसके कारण आज प्रदेश की कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही हैं ।

उन्होंने कहा उन से एक कदम आगे दिल्ली में इनका इंड़ी गठबंधन जनता की सम्पत्ति और गाढ़ी कमाई सर्वे के नाम पर ज़ब्त करने की फ़िराक में है। कांग्रेस और इंडी एलायंस वित्तीय और संस्थागत सर्वेक्षण के नाम पर जनता की गाढ़ी कमाई धन दौलत सम्पत्ति घर जमीन जायदाद ज़ब्त करने की फ़िराक में है। आपकी पैतृक संपत्ति और बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए मेहनत से बनाए गए सभी संसाधनों को भी हड़पने का सपना देख रही कांग्रेस अपने मकसद को पूरा के लिए इसे पुनर्वितरण का नाम दे रही है। उन्होंने कहा कांग्रेस और इंड़ी गठबंधन के घोषणा पत्र से यह तस्वीर बिल्कुल स्पष्ट झलक रही है की आम जनता की संपत्ति घर सोना एफडी कुछ भी सुरक्षित नहीं रहेगा यही कांग्रेस का हिडन एजेंडा है।
उन्होंने कहा कि देश की जनता अपने बुद्धि और विवेक से निर्णय करने की आवश्यकता है क्योंकि सामने दो विकल्प हैं। एक तरफ कांग्रेस और इंडिया गठबंधन है जो आपकी पैतृक संपत्ति और गाढ़ी कमाई पर नज़रें गढ़ाए बैठी है और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाला विकसित भारत को दृढ़ संकल्पित विकल्प है जो पहले आपको समृद्धशाली बना कर आपकी आय बढाकर आपको आत्मनिर्भर बनाकर देश को समृद्ध आत्मनिर्भर और विकसित बनाने की राह पर पिछले दस वर्षों से लगातार अथक मेहनत कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *