Himachal Tonite

Go Beyond News

यूपीएससी आकांक्षियों को मंडी जिला प्रशासन का ‘समर्थन’

मंडी, 18 नवंबर :

मंडी जिला प्रशासन द्वारा यूपीएससी आकांक्षियांे के मार्गदर्शन और काउंसलिंग के लिए शुरू किए गए ‘समर्थन’ कार्यक्रम के तहत वल्लभ राजकीय महाविद्यालय मंडी में बुधवार को दूसरा मार्गदर्शन और काउंसलिंग सत्र आयोजित किया गया। इस सत्र में आईएएस प्रोबेशनर शहजाद आलम और आईपीएस प्रोबेशनर इल्मा अफरोज ने युवाओं-विद्यार्थियों को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी को लेकर महत्वपूर्ण टिप्स दिए।

उन्होंने विद्यार्थयों को विषय चयन, सिलेबस, तैयारी की रणनीति के अलावा उनसे अपने अनुभव सांझा करते हुए उनका मनोबल बढ़ाया। उन्होंने युवाओं की परीक्षा से जुड़ी जिज्ञासाओं-शंकाओं का समाधान भी किया।

इस दौरान आईएएस प्रोबेशनर शहजाद आलम ने युवाओं से असफलता से निरूत्साहित हुए बिना लगातार समर्पित प्रयास जारी रखने का आह्वान किया । सामान्य ज्ञान के लिए प्रतिदिन नेशनल पेपर पढ़ने और देश विदेश के घटनाक्रम को लेकर विशलेषणात्मक दृष्टि रखने को कहा।

आईपीएस प्रोबेशनर इल्मा अफरोज ने विद्याार्थयों से पढ़ाई के साथ साथ सामाजिक सरोकार के प्रति सजग रहने को कहा। उन्होंने युवाओं से नशे से दूर रहने का आग्रह किया।

बता दें, ‘समर्थन’ यूपीएससी आकांक्षियों के लिए मंडी जिला प्रशासन का एक निशुल्क कार्यक्रम है। इसके तहत युवाओं-विद्यार्थियों को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के हर पहलू से अवगत करवाया जा रहा है। जिला में काम कर रहे आईएएस, आईपीएस और अन्य अधिकारी परीक्षा को लेकर युवाओं-विद्यार्थियों का मार्गदर्शन और काउंसलिंग करते हैं।

हर महीने के तीसरे बुधवार को दो घंटे का काउंसलिंग सत्र
समर्थन कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए अतिरिक्त उपायुक्त जतिन लाल कहा कि हर महीने के तीसरे बुधवार को सायं 3 से 5 तक वल्लभ कॉलेज के सभागार में युवाओं-छात्रों के साथ संवाद किया जा रहा है। इसमें जिला में जितने भी आईएएस और आईपीए अधिकारी हैं वे सभी समय समय पर इसमें शामिल होकर अपने अनुभव शेयर करते हुए युवाओं को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते रहेंगे।
इस क्रम में इस बुधवार को कार्यक्रम के तहत दूसरा सत्र आयोजित किया गया। जतिन लाल ने कहा कि कई बार युवाओं को यूपीएससी परीक्षा को लेकर कई चीजों की जानकारी ही नहीं होती। जिसके चलते उन्हें अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।  परीक्षा के विषयों से लेकर किताबों तक के बारे में सही जानकारी के अभाव में यहां वहां भटकना पड़ता है। हमारा प्रयास है कि समर्थन कार्यक्रम के जरिए परीक्षा पास करने से जुड़े हर पहलू को लेकर युवाओं का मार्गदर्शन किया जाए। उनकी समस्याएं सुनकर समाधान किया जाए। उनके वित्तिय दिक्कतों से लेकर मानसिक परेशानियों तक में मदद की जाए।

Language & Culture Dept, HP in Partnership with Keekli Presents: मीमांसा — Children’s Literature Festival 2023

Leave a Reply

Your email address will not be published.