Himachal Tonite

Go Beyond News

एक देश एक स्वास्थ्य तंत्र” समय की मांग – राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर

शिमला oct 1
आरोग्य भारती द्वारा राजभवन शिमला में “एक देश एक स्वास्थ्य तंत्र” (वन नेशन वन हैल्थ सिस्टम) विषय पर आयोजित परिसंवाद कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अपने उद्बोधन में हिमाचल सरकार के माननीय राज्यपाल श्री राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर ने कहा कि “एक देश एक स्वास्थ्य तंत्र” वर्तमान समय की मांग है। हिमाचल सरकार के उच्च प्रशासनिक अधिकारियों के साथ इस परिसंवाद कार्यक्रम में उन्होंने ने आगे कहा कि आयुर्वेद,योग एवं अन्य चिकित्सा पद्धतियों का हमारे हैल्थ सिस्टम में विशेष महत्व है। ऐलोपैथी सहित सभी चिकित्सा पद्धतियों को साथ लेकर चलने से हमारा स्वास्थ्य सेवा तंत्र और सुदृढ़ होगा । कार्यक्रम में आरोग्य भारती के लक्ष्य एवं उद्देश्यों पर जानकारी देते हुए डॉ राकेश पंडित ने कहा कि आरोग्य भारती स्वास्थ्य के क्षेत्र में आरोग्य भारती स्वस्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने वाला एक सेवा संगठन है जो देशभर में प्रिवेंटिव मेडिसिन, हेअल्थी लाइफ स्टाइल ,पर्यावरण सुरक्षा आदि विषयों पर काम करता हैI सभी चिकित्सा पद्धतियों के अपनी विशेषताएं भी है और कुछ सीमाएं भी ह प्रिवैंटिव मैडीसिन को केंद्र में रखकर ,सभी चिकित्सा पद्धतियों के समन्वित प्रयास द्वारा स्वास्थ्य जागरूकता के माध्यम से पूरे भारत में कार्य करने वाला सेवा संगठन है । कार्यक्रम में विशिष्ट वक्ता के रुप बोलते हुए आरोग्य भारती के राष्ट्रीय संगठन सचिव डॉ अशोक वार्ष्णेय ने एक देश एक स्वास्थ्य तंत्र (वन नेशन वन हैल्थ सिस्टम) विषय पर अपने विचार प्रस्तुत किए। उन्होंने आगे कहा कि आरोग्य भारती समय समय पर स्वास्थ्य से सम्बन्धित समसामयिक विषयों पर अपने सुझाव सरकार एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य निति आयोग को प्रेषित करती रहती है. विषय पर भी निति आयोग के साथ चर्चा कर अपने सुझाव प्रस्तुत किये थे जिन्हे निति आयोग ने मान कर आगे कार्यवाही प्रारंभ कर दी है. स्वास्थ्य के क्षेत्र के सभी भागीदारों स्टेकहोल्डर्स के साथ चर्चा के लिए ही हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य निति निर्धारकों एवं विशेषज्ञों के साथ आज का परिसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया है I काशी से पधारे विशिष्ट वक्ता डॉ इन्दर नील बासु क्लीनिकल प्रैक्टिस एवं अनुसंधान एवं पीजीआई चण्डीगढ़ से प्रोफेसर अक्षय आनंद ने सर्वसम्वेशी चिकित्सा शिक्षा विषयों पर अपनी प्रस्तुति प्रदान की I परिसंवाद में प्रश्नोत्तर का सत्र रहा I इस कार्यक्रम मे इनके अतिरिक्त हिमाचल सरकार में सेक्रेट्री आयुष श्री राजीव शर्मा , डायरेक्टर मेडिकल एजुकेशन डॉ राजेश पठानिया , वाइस चांसलर अटल मेडिकल यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश डॉ सुरेंद्र कश्यप, डायरेक्टर एनएचएम श्री हेमराज बैरवा, नपठानिया, डायरेक्टर आयुर्वेदा श्री विनय सिंह, एडिशनल डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेज श्री राजीव कुमार , डिप्टी डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेज डॉ. अम्बिका चौहान, सचिव राज्यपाल श्री राजेश शर्मा, विशेष कार्यकारी अधिकारी राज्यपाल श्री प्रकाश देसाई सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित रहे I प्रांत सचिव डा हेम राज शर्मा, उपाध्यक्ष् डा अनिल मेहता, प्रांत सह सचिव डा अनिल भरद्वाज, प्रांत गर्भ संस्कार आयाम प्रमुख डा सोनी कपिल, प्रांत कोषाध्यक्ष् डा कुलदीप कुमार, आरोग्य भारती शिमला से जिलाध्यक्ष डा नरेश कुमार शर्मा, डा नरेंद्र सूद, डा अनिल ठाकुर तथा जवाहर कौल ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की I
इस अवसर पर आरोग्य भारती के राष्ट्रीय संगठन सचिव डॉ अशोक वार्ष्णेय जी ने माननीय राज्यपाल को “आरोग्य संपदा” पत्रिका का सर्व-समावेशी चिकित्सा विशेषांक भेंट किया। आरोग्य भारती हिमाचल डा नरेश कुमार शर्मा ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया । मंच संचालन श्री जवाहर कौल ने मंच संचालन किया ।

Language & Culture Dept, HP in Partnership with Keekli Presents: मीमांसा — Children’s Literature Festival 2023

Leave a Reply

Your email address will not be published.