Himachal Tonite

Go Beyond News

4 जनवरी तक चलेगा हिम सुरक्षा अभियान

मंडी, दिसंबर 28 – मंडी जिला में हिम सुरक्षा अभियान अब 4 जनवरी तक चलाया जाएगा। अभियान के तहत जिला में करीब 11 लाख लोगों में से अब तक 9 लाख 23 हजार लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है । सरकार ने अभियान के महत्व को देखते हुए इसे एक सप्ताह और बढ़ा दिया है ।यह जानकारी उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने दी ।

बता दें, यह अभियान 25 नवम्बर से 27 दिसम्बर, 2020 तक जिलाभर में चलाया गया था, जिसे अब बढ़ाकर 4 जनवरी तक कर दिया गया है।

उपायुक्त हिम सुरक्षा अभियान के अंतर्गत आज क्षेत्रीय अस्पताल मंडी के सभागार में आयोजित सममीक्षा बैठक और जिला स्तरीय क्षय रोग निवारण समिति समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि हिम सुरक्षा अभियान के तहत मंडी जिला में कार्यरत 1255 टीमें हर व्यक्ति तक पहुंच कर उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हासिल कर रही हैं। इस अभियान के तहत कोरोना के लक्षणों वाले मरीजों का पता लगाने के साथ साथ टीबी, कुष्ठ, मधुमेह और रक्तचाप जैसी बीमारियों के लक्षणों के बारे में भी सूचना एकत्रित की जा रही है।

जिला में कुष्ठ रोग का नहीं कोई भी नया मामला
उपायुक्त ने बताया कि अभियान के दौरान अभी तक जिला में क्षय रोग के लक्षणों वाले 1789 रोगियों की पहचान की गई, जिनमें से 1500 के सैंपल ले लिए गए हैं। उनमें से 66 लोग इससे ग्रसित पाए गए । क्षय रोग से ग्रसित लोगों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवा दी गयी है। जबकि जिला में कुष्ठ रोग का कोई भी मामला नहीं पाया गया ।

इसके अलावा अभियान में सर्दी-खांसी जैसे लक्षणों से ग्रसित करीब 9500 लोगों की पहचान की गई। उनमें से 3200 के लगभग लोगों के कोविड जांच के लिए सैंपल लिए गए, जिनमें 181 मामले पॉजिटिव आए।

उन्होंने जिला के खंड चिकित्सा अधिकारियों से 4 जनवरी, 2021 तक इस अभियान को पूर्ण करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने को कहा। उपायुक्त ने लोगों से भी आग्रह किया कि वे स्वेच्छा से अपनी जांच करवाकर स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. देवेन्द्र कुमार शर्मा ने बैठक में बताया कि अभियान के दौरान लोगों को मास्क पहनने तथा उचित दूरी बनाए रखने बारे भी जागरूक किया जा रहा है, जिसके फलस्वरूप अब जिला में संक्रमितों की संख्या धीरे-धीरे कम हो रही है ।

Keekli presents Fiction Treasure Trove 2022

Leave a Reply

Your email address will not be published.