Himachal Tonite

Go Beyond News

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की 3 जनवरी को मंडी में हुई प्रेसवार्ता के मुख्य बिन्दु

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की 3 जनवरी को मंडी में हुई प्रेसवार्ता के मुख्य बिन्दु 
प्रदेश सरकार का 3 साल का कार्यकाल संतुलित और समग्र विकास को समर्पित रहा है ।
दूरदर्शी विजन के साथ अनेक महत्वपूर्ण और नई पहलें की गयी हैं ।
जनसरोकार को समर्पित जनमंच सरकार का महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इसके जरिये अब तक मिली 50 हजार षिकायतों में से 91 प्रतिषत से अधिक का निपटारा किया जा चुका है ।  कोविड का संकट थमते ही जनमंच फिर शुरू कर दिया जायेगा ।
सुचना प्रौद्योगिकी के सदुपयोग से जन षिकायत निवारण के लिए प्रभावी तंत्र बनाया गया है । मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हैल्पलाइन 1100 से घर बेैठे लोगों की समस्याओं का निदान तय बनाया गया है । अब तक 1.20 लाख जन षिकायतों का समाधान किया जा चुका है ।
हिमकेयर योजना में 1.25 लाख लाभार्थियों को 120 करोड़ रूपये की निःषुल्क ईलाज की सुविधा प्रदान की जा चुकी है ।
सहारा योजना में गंभीर बिमारियों से पीड़ित लोगों के बैंक खाते में हर माह 3 हजार रूपये की सहायता राषि डाली जा रही है ।  अब तक 11 हजार से अधिक लाभार्थियों को इस योजना में कवर किया गया है और 12 करोड़ रूपये से अधिक वितिय सहायता प्रदान की गयी ।
प्रदेष में 2.80 लाख परिवारों को निशुल्क गैस चूल्हे व कनेक्शन दिए गए हैं। ऐसा करने वाला हिमाचल देश का पहला राज्य।
ऽ युवाओं को स्वरोजगार लगाने को प्रोत्साहित करने को मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना में 60 लाख रुपये की परियोजना लागत पर 25 प्रतिषत का निवेष उपदान दिया जा रहा है, जबकि महिलाओं के लिए 30 प्रतिषत के उपदान का प्रावधान है ।
ऽ 40 लाख रूपये तक के ऋण पर 3 वर्षो के लिए 5 प्रतिषत उपदान की सुविधा भी दी जा रही है ।
ऽ पर्यटन को बढ़ावा देकर स्वरोजगार के अवसर बढ़ाने पर जोर।
ऽ नई राहें,नई मंजिलें से अनछुए पर्यटन स्थलों को निखारने पर बल।
ऽ ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में 96 हजार करोड़ के एमओयू साइन हुए। ग्राउंड ब्रेकिंग के बाद 10 हजार करोड़ के काम धरातल पर शुरु।
ऽ 10 हजार करोड़ के और कार्यों की ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए तैयारी पूरी।
ऽ ग्रामीण एवं शहरी विकास को गति देने के लिए प्रदेष में 389 ग्राम पंचायतों का गठन किया, 3 नगर निगम(मंडी ,सोलन और पालमपुर) 7 नई नगर पंचायतें बनाईं।
ऽ अटल टनल के बन जाने से लाहौल घाटी में पर्यटन की संभावनाएं बढ़ी हैं। घाटी में  पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मूलभुत सुविधाएं विकसित की जायेंगी । जिससे युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे ।
ऽ सलापड़-ततापानी जल परिवहन को विकसित करने की दिषा में कार्य किया जा रहा है, जिससे न केवल स्थानीय लोगों को फायदा होगा, अपितु पर्यटन क्षेत्र को भी बढ़ावा मिलेगा ।
ऽ दूरदर्षी दृष्टिकोण के साथ भविष्यानमुखी योजनाएं बनाने पर जोर दिया जा रहा है, जिससे वर्तमान की जरूरतों को पूरा करने के साथ-साथ अगले 50 वर्षो के लिए सुविधाओं के विकास का भी ध्यान रखा जा रहा है  ।
ऽ विकास के दृष्टिगत विभिन्न क्षेत्रों में संस्थानों को खोलना ही आवष्यक नहीं है । ये संस्थान  मुलभूत सुविधाओं, नवीनतम तकनीकी के साथ सुसज्जित होनी चाहिए । इस बारे में ध्यान दिया जा रहा है ।
ऽ हर क्षेत्र में सुनियोजित विकास की सोच के साथ काम किया जा रहा है ।
ऽ पेयजल, सिंचाई योजनाओं, कृषि, बागवानी तथा सड़क संचार  से संबंधित योजनाओं को न केवल वर्तमान जरूरतों के मुताबिक अपितु आगामी 50 वर्षो की योजना के साथ विकसित करने पर बल दिया जा रहा है। इसमें पर्यावरण मित्र विकास को तरजीह दी जा रही है ।
ऽ प्रदेष में उपलब्ध पर्यटन की संभावनाओं का योजनाबद्व तरीके से दोहन किया जायेगा । पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नए क्षेत्र चिन्हित करने के साथ सड़क संचार को सुद्ढ़ किया जा रहा है ।
ऽ 25 जनवरी को प्रदेष के पूर्ण राज्यत्व के 50 वर्ष के सफर के पूरा होने पर कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए षिमला में राज्य स्तर पर स्वर्ण जयंती समारोह का आयोजन किया जायेगा । जिसमें राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेष के लिए गौरव स्थापित करने वाले सम्मानित होंगे।
ऽ वर्ष भर प्रदेष में 51 विषेष आयोजन किए जायेंगे, जिसके चलते नई पीढ़ी प्रदेष की गौरवमयी यात्रा से परिचित होगी । प्रदेष की वैभवषाली संस्कृति, गौरवमयी इतिहास व समृद्व परम्पराओं का प्रचार-प्रसार करके संरक्षण प्रदान किया जायेगा ।
ऽ प्रदेष सरकार नषाखोरी पर पूरी तरह लगाम लगाने के लिए प्रभावी कदम उठा रही है । इसे लेकर कानूनों को और सख्त करने के साथ-साथ उन्हें उतनी ही सख्ती से  लागू करना भी सुनिष्चित किया गया है ।
ऽ सरकार के प्रयासों में सामाजिक जागरूकता और सामुदायिक भागीदारी बहुत जरूरी है । युवाओं की उर्जा को साकारात्मक दिषा में दोहन करने पर बल दिया जा रहा है तथा पुर्नवास व नषामुक्ति केंद्र खोले जा रहे हैं ।
ऽ इसी महीने कोविड वैक्सीन  प्रदेष में उपलब्ध हो जायेगी, जिसके रख-रखाव व टीकाकरण को लेकर पूरी तैयारियां कर ली गयी हैं।

प्रधानमंत्री को सर्वश्रेष्ठ व सबसे लोकप्रिय राजनेता आंका जाने पर दी बधाई ’
मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने अमेरिका की डाटा फर्म मॉर्निंग कंसल्ट द्वारा देश में कोविड-19 महामारी को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करने लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को दुनिया भर में सर्वश्रेष्ठ और सबसे लोकप्रिय राजनेता आंका जाने पर बधाई दी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मॉर्निंग कंसल्ट द्वारा किए गए सर्वेक्षण में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अनुमोदन रेटिंग विश्व के नेताओं में सबसे अधिक है। यह उनके सक्षम नेतृत्व का प्रमाण है ।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की वैश्विक नेता के तौर पर स्वीकार्यता सभी भारतीयों के लिए गर्व का विषय है।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कोविड-19 संकट के विभिन्न मुद्दों और कुशल प्रबंधन के लिए एक बार फिर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता के रूप में उभरे हैं। प्रधानमंत्री द्वारा लिए गए प्रभावी और समयबद्ध निर्णयों के कारण ही भारत कोरोना संकट से प्रभावी रूप से निपटने में सक्षम हुआ।
मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की कि प्रधानमंत्री के गतिशील और कुशल नेतृत्व में राष्ट्र प्रगति और समृद्धि के मार्ग पर निरन्तर आगे बढ़ता रहेगा।

मुद्दा विहीन है विपक्ष
प्रदेश में विपक्ष के पास सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं है।
कोविड काल में देश-प्रदेश में अगर कांग्रेस सरकारें होतीं तो कोरोना के नाम पर लूट मचातीं।
इसकी एक बानगी तो प्रदेश कांग्रेस द्वारा अपने हाईकमान को भेजा 12 करोड़ रुपए का वह फर्जी बिल है, जो उन्होंने लोगों को पीपीटी किट, मास्क और सेंटीटाइजर बांटने के नाम पर अपने हाई कमान को थमाया है।
पिछली कांग्रेस सरकार ने दूरगामी दृष्टिकोण के साथ कोई नई पहल नहीं की।
सिर्फ जन सभाओं में विकास की खूब चर्चा की, मगर जमीन पर कुछ नहीं हुआ।
वर्तमान प्रदेश सरकार ने स्वरोजगार को लेकर तो नए और प्रभावी कदम उठाए ही, सरकारी क्षेत्र में भी कांग्रेस की तुलना में कहीं अधिक रोजगार दिए हैं।

कोविड काल में भी नहीं थमने दी विकास की रफ्तार
प्रदेश सरकार ने कोविड के अभूतपूर्व संकट में भी विकास की रफ्तार थमने नहीं दी।
हम एक्चुअल और वर्चुअल माध्यमों से लोगों से लगातर जुड़े हैं।
कोरोना काल में हमने प्रदेश के 42 विधानसभा क्षेत्रों में 3500 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाएं जनता को सौंपी हैं।

शिव धाम और बल्ह एयरपोर्ट निर्माण की दिशा में निर्णायक कदम
मंडी में शिवधाम के निर्माण की दिशा में निर्णायक कदम उठाए गए हैं।
अन्तिम चरण की फॉरेस्ट क्लीयरेंसिज के लिए मामला सुप्रीम कोर्ट में है, इसके मिलते ही काम शुरु हो जाएगा।
इसके अलावा बल्ह में एयरपोर्ट निर्माण के लिए केन्द्रीय वित्त आयोग के समक्ष ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट का प्रस्ताव रखा और वित्तीय मदद के लिए कहा है।
प्रदेश की करीब 600 विकास परियोजनाओं के मामले फॉरेस्ट क्लीयरेंसिज ले लिए सुप्रीम कोर्ट में लम्बित हैं, इन्हें लेकर सरकार ने पुरजोर तरीके से अपना पक्ष रखा है। इनको हरी झंडी मिलते ही विकास की बहुत सी परियोजनाएं सिरे चढेंगी।

Language & Culture Dept, HP in Partnership with Keekli Presents: मीमांसा — Children’s Literature Festival 2023

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *